Best Love Shayari’s In Hindi

Today we present towards you some of the best love shayari’s written in Hindi language. Share this posts with your love so show how truly you love them.

 

sarkar ki yojanai si ho gai tum bhi
jisse jarurat ho
usse milti hi nahi
ishq karna hai kisise toh behad kijiye
hade aur sarhade jo jameen ki hoti hai dilo ke nahi
dil mai uski chahat aur
labo pe uska naam hai
wo wafa kare na kare
zindagi uske naam hai
a baarish jara tham ke baras
jab mera pyaar aa jaye toh jam ke baras
pehle na baras ki voh aa na sake
phir itna baras ki voh ja na sake
Roj mandir mai
subah ghanti bajata hu
soya hua khud hu
aur bhagwan ko jagata hu
kaash tu meri aankho ka ansoo ban jaye
main rona chod du tujhe khone ke dar se
Kya khoob majbooriyaan thi meri bhi
apni khushi ko chhod diya
usse khush dekhne ke liye
Naa mahino ki ginti hai
naa salo ka hisaab hai
mohabbat aaj bhi tumse bepanah
be hisaab hai
Naa jaane kis hunar ko
shayari kehte ho tum
hum to wo likhte hai jo
tumse keh nahi pate
Taras gai hai nigahe unke
didaar a rukhsaar koaur voh hai ki khwabo mai bhi
ghunghat mai aate hai
Suno! tum mere zid nahi ho jo puri ho’tum mere dhadkan ho jo zaroori ho

 

 

 

 

अमल से भी माँगा वफ़ा से भी माँगा,
तुझे मैंने तेरी रज़ा से भी माँगा,
न कुछ हो सका तो दुआ से भी माँगा,
कसम है खुदा की खुदा से भी माँगा।

तुम हँसते हो तो मुझे हँसाने के लिए,
तुम रोते हो तो मुझे रुलाने के लिए,
एक बार हमसे रूठ कर तो देखिये,
मर जायेंगे आपको मनाने के लिए।

मैने सब कुछ पाया है बस तुझको पाना बाकी है,
कुछ कमी नहीं जिंदगी में बस तेरा आना बाकी है।

बेवजह इतरा उठे दिल का कोना कोना मेरा,
कभी यूँ भी तो तुम मेरी तारीफ़ किया करो!!

नशा था उनके प्यार का,
जिस में हम खो गए,
उन्हें भी नहीं पता चला,
कि कब हम उनके हो गए!

दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो,
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को,
तुम ख्वाबो में आकर युँ तडपाया ना करो!

ज़िन्दगी से यही गिला है मुझे,
तू बहुत देर से मिला है मुझे,
तू मोहब्बत से कोई चाल तो चल,
हार जाने का हौसला है मुझे।

हम ना अजनबी हैं ना पराये हैं,
आप और हम एक रिश्ते के साये है,
जब जी चाहे महसूस कर लीजियेगा,
हम तो आपकी मुस्कुराहटों में समाये है।

बेबसी मेरी कभी समझो ज़रा,
दिल मेरा आकर कभी पढ़ लो ज़रा,
ज़ख़्म तूने जो दिए कैसे सहें,
प्यार तुम्हें भी है कभी कह दो ज़रा!

 

 

 

Keep following for daily new posts.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *